नव वर्ष की मनाबी  -कवियत्री-करूणा झा

शेयर गर्नुहोला

सप्तरी टुडे 

वैशाख-१गते 

कोहराम कोरोना के ,नव वर्ष की मनाबी ।
लोकडन के अंदेशा, नव वर्ष की मनाबी ।।

लोक कऽ बीच दूरी बढैत ,जारह अछि।
स्वदेश फूलवारी के फूल ,सुखी रहल अछि।।

सब के एकेटा चिन्ता, कोना ई दिन बचाबी।
समाजिक भले हो दुरी ,नेई मन सं दुरी बनाबी।।

हम सब मिली के संग, लडब जितब ई जंग ।
एक दोसर के होसला बनि,नव वर्ष हम मनाबि। ।

सभहक मंगल कमना , सब के ई शुभकामना।
काल कोरोना भगाबी, नव वर्ष हम मनाबि । ।

जय मिथिला ।
करूणा झा- राजविराज,सप्तरी। 

पछाडि पोस्टसप्तरीको कञ्चनरुपमा रहेको खोत्तरदेवी गुफा संरक्षणको पर्खाइमा
अगाडि पोस्टगजल- तुलसी झै फुलोस,फलोस शुभकामना छ।